जाने शिलाजीत के फायदे , नुकशान और उपयोग करने के बारे में।

0

 Shilajit Benefits in Hindi - शिलाजीत के फायदे , नुकशान और उपयोग

शिलाजीत के फायदे
 

 शिलाजीत क्या है


शिलाजीत हिमालय और हिंदुकुश पर्वतमाला से प्राप्त किया जाने वाला एक प्राकृतिक खनिज पदार्थ है। यह पदार्थ चिपचिपा और टाइट होता है, जो पौधों व उसके हिस्सों के हजारों सालों तक विघटन (Decomposition) होने पर प्राप्त होता है। आयुर्वेद में शिलाजीत (Shilajit in Ayurveda) को शक्तिवर्धक माना गया है, जिससे संपूर्ण सेहत का विकास होता है। पुरुषों की अंदरुनी ताकत और यौन स्वास्थ्य के लिए शिलाजीत रामबाण इलाज माना गया है। शुद्ध शिलाजीत का सेवन (Shilajit Benefits in Hindi ) करना पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं को भी अद्वितीय फायदे पहुंचाता है। आइए जानते हैं कि शिलाजीत के सेवन से कौन-कौन से फायदे प्राप्त होते हैं।

शिलाजीत का सेवन पुरुषों की मर्दानगी और संभोग क्षमता बढ़ाने के लिए ज्यादा किया जाता है। हालांकि इसके अलावा भी शिलाजीत खाने के कई फायदे हैं,

Shilajit Benefits in Hindi - शिलाजीत के 10 सबसे महत्वपूर्ण फायदे।


1. शिलाजीत के फायदे मर्दानगी तागत में


शिलाजीत की एक छोटी चम्मच मात्रा का सेवन आपकी मर्दानगी में चार चांद लगा देगा। दरअसल शिलाजीत में टेस्टोस्टोरोंस हार्मोन को बढ़ाने की क्षमता पाई जाती है। इसका सेवन करने से आपकी परफॉर्मेंस टाइमिंग भी बढ़ जाती है।

2. शिलाजीत के फायदे स्पर्म काउंट बढ़ाने में


शिलाजीत के पाउडर को अगर आप दूध में मिलाकर पीते हैं तो इससे आपके स्पर्म काउंट में बड़ी तेजी से बढ़ोत्तरी होती है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के बाद इसका दावा भी किया जा चुका है।

​3. शिलाजीत के फायदे अनिद्रा की समस्या को दुर करने में


अनिद्रा की समस्या टेस्टोस्टोरोंस हार्मोन की कमी के कारण होता है। जबकि शिलाजीत खाने से यह हार्मोन बढ़ जाता है। इसलिए रात में सोने से पहले आप शिलाजीत का सेवन करें।

​4. शिलाजीत के फायदे खून की कमी दुर करने में


खून की कमी से इंसान को कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। जबकि शिलाजीत में आयरन की मात्रा पाई जाती है। जिसके कारण यह आपके शरीर में खून की कमी नहीं होने देता है।

5. ​शिलाजीत के फायदे याद करने की क्षमता बढ़ाने में


शिलाजीत का सेवन याद करने की क्षमता में भी बढ़ोत्तरी करता है। दरअसल शिलाजीत में फुल्विक एसिड पाया जाता है। यह एसिड दिमाग की कार्यक्षमता में बढ़ोत्तरी करता है और याद मेमोरी पॉवर को भी बूस्ट करता है।

​6. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में


बीमारियों से बचे रहने के लिए जरुरी है कि आपकी इमूनिटी मजबूत हो। शिलाजीत एक एंटी-ऑक्सिडेंट कार्य करता है। जिससे आपकी इम्युनिटी मजबूत होगी। इसलिए आप रोजाना शिलाजीत की थोड़ी-थोड़ी मात्रा का सेवन कर सकते हैं।

7. लंबे समय तक जवां दिखने में


लंबे समय तक जवां दिखने के लिए भी शिलाजीत काफी फायदेमंद होता है। इसका सेवन करने से यह एक एंटी-एजिंग एजेंट के रूप में कार्य करता है। जिसके कारण बढ़ती हुई उम्र के कई सारे असर को निष्क्रिय कर देता है।

8. ​डायबिटीज के उपचार में


डायबिटीज जैसी बीमारी से ग्रसित लोगों के लिए शिलाजीत रामबाण औषधि साबित हो सकता है। एंटी-डायबिटिक गुण के कारण यह डायबिटीज के उपचार और इसके जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

9. पेशाब संबंधित समस्याएं में


शिलाजीत का सेवन पेशाब संबंधित समस्याओं से भी राहत प्रदान कर सकता है। यह गुर्दों व मूत्राशय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। इसके सेवन से पेशाब में जलन और पथरी जैसी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इससे किडनी की कार्यक्षमता बढ़ती है।

10. जोड़ों के दर्द से राहत में


अगर आपके जोड़ों में दर्द रहता है, तो शिलाजीत का इस्तेमाल फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाए जाते हैं। जो शरीर में टिश्यू की सूजन को कम करके जोड़ों के असहनीय दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से बढ़ती उम्र के लक्षणों व कोशिकाओं के क्षतिग्रस्त होने की प्रक्रिया को भी कम किया जा सकता है।

शिलाजीत के नुकशान  - Shilajit Ke Nuksan in Hindi


यदि सही तरीके से और सही मात्रा में लिया जाता है, तो शिलाजीत किसी भी गंभीर दुष्प्रभाव से सम्बंधित नहीं है। परंतु यदि अधिक मात्रा में लिया जाए तो निम्न दुष्प्रभाव होने की संभावना है:

  • शरीर में अत्यधिक गर्मी उत्तेजना।
  • पैरों में जलन का अहसास।
  • हाथ और पैरों में अधिक गर्मी महसूस करना।
  • पेशाब में वृद्धि या कमी।
  • एलर्जी: यदि आप शिलाजीत में मौजूद किसी भी मिश्रित या घटक के एलर्जी है। यदि आप एलर्जी की प्रतिक्रिया के लक्षणों को देखते हैं, जिसमें मतली, चक्कर आना, दिल की दर बढ़ने, खुजली आदि शामिल हैं, तो शिलाजीत का उपयोग करना बंद कर दें।


शिलाजीत का उपयोग कैसे करें  – How to Use Shilajit in Hindi


शिलाजीत खाने का तरीका समझने के लिए यहां हम शिलाजीत के उपयोग के कुछ विकल्प दे रहे हैं, जो इस प्रकार हैं 

इलायची के दाने और शहद के साथ शिलाजीत पाउडर का सेवन किया जा सकता है।
शिलाजीत का सेवन घी या मक्खन के साथ भी कर सकते हैं।
शिलाजीत का सेवन दूध के साथ भी किया जा सकता है।
नारियल तेल के साथ भी शिलाजीत का सेवन किया जा सकता है।
कब खाएं : शिलाजीत का सेवन रात को सोने से पहले और व्यायाम करने से पहले किया जा सकता है। इसका सेवन बहुत कम मात्रा में किया जाता है। बेहतर होगा किसी चिकित्सक से परामर्श के बाद ही इसका सेवन करें।

कितनी मात्रा में खाएं


बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन शिलाजीत की 300-500 मिलीग्राम मात्रा का उपयोग किया जा सकता है (10)। शिलाजीत की यह मात्रा प्रत्येक व्यक्ति की शारीरिक क्षमता के अनुसार कम या ज्यादा हो सकती है। इस बारे में आपको डॉक्टर बेहतर बता सकते हैं। वहीं, अगर कोई शिलाजीत कैप्सूल्स के फायदे हासिल करना चाहता है, तो इस संबंध में भी डॉक्टर से राय ली जा सकती है।

Sources

ApanHealth has strict sourcing guidelines and relies on peer-reviewed studies, academic research institutions, and medical associations. We avoid using tertiary references.

1. navbharattimes

2. lybrate

3. wikipidia Hindi

 

 

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !