Shilajit Ke Fayde - पुरुषों का स्‍टैमिना बढ़ाने के साथ ही महिलाओं की ताकत और प्लेजर बढ़ा सकती है शिलाजीत.

1

 Shilajit Ke Fayde - आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में शिलाजीत सबजे ज्यादा शक्तिशाली मानी जाती है। इसका इस्तेमाल पारंपरिक हर्बल दवाओं में थकान से लेकर कम टेस्टोस्टेरॉन प्रोडक्शन तक कई पुरूषों के इलाज के लिए किया जाता है। पुराने समय से इसका इस्तेमाल पुरुषों की सेक्स पॉवर बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसे आयुर्वेदिक इलाज माना जाता है। हालांकि, आपको यह जानकर हैरानी होगी कि शिलाजीत महिलाओं की सेक्स संबंधी समस्याओं को भी दूर कर सकता है। यहां जानिए महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे - Shilajit Ke Fayde

 

 क्या होता है शिलाजीत?


शिलाजीत, हिमालय की चट्टानों में पाई जाने वाली एक चिपचिपी दवाई जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में भी किया जाता है। ये आपकी सेक्सुअल लाइफ और स्टैमिना को बढ़ाने के लिए किया जाता है। रिपोर्ट्स की मानें तो शिलाजीत टिशूज तक न्यू ट्रेंस पर जाता है जिससे थकान, सुस्ती और लो सेक्स ड्राइव की समस्या खत्म होती है।

महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे - Shilajit Ke Fayde


1) एनर्जी लेवल को बढ़ाता है


अपने दिन की शुरुआत एक कप स्ट्रॉन्ग कॉफी के साथ करने के बावजूद महिलाएं अक्सर थकान महसूस करती हैं।  महिलाओं के पीरियड साइकिल के दौरान, वे अपने शरीर से बहुत सारे पोषक तत्व खो देती हैं। शिलाजीत शरीर में एडेनोसिन-5-ट्राइफॉस्फेट (एटीपी) का उत्पादन करके एनर्जी को बढ़ाने में मदद करता है और आपको अच्छे मूड में रखता है, जिसके बाद आप पूरे दिन एक्टिव रहते हैं।(1)

2) फर्टिलिटी में होता है सुधार


महिलाएं जो अनियमित पीरियड से परेशान रहती हैं, उनमें बांझपन होने का खतरा होता है। कई दक्षिण एशियाई महिलाएं प्रजनन हेल्थ को बढ़ावा देने के लिए शिलाजीत की सलाह देती हैं। शिलाजीत जड़ी बूटी जरूरी एंटीऑक्सीडेंट उत्पन्न करके अंगों को साफ और डिटॉक्सीफाई करती है। यह शरीर से फ्री रेडिकल्स से लड़ता है, जो महिलाओं के बांझपन में योगदान दे सकता है।

3) तनाव कम होता है


शिलाजीत अपने हीलिंग गुणों के लिए जाना जाता है। इसको खाने से आपको शांति मिल सकती है। यह ऑक्सीटोसिन हार्मोन का प्रोडक्शन करते हुए आपके शरीर में तनाव हार्मोन के उत्पादन को कम करके आपको शांत करने में मदद करता है। यह आपको एक अच्छे, खुशमिजाज और आनंदमय मूड में रखेगा।


4) इम्युनिटी बढ़ेगी


अगर आपका इम्यून सिस्टम वायरस से लड़ने के लिए पर्याप्त मजबूत नहीं है तो वायरस और बैक्टीरिया आपके शरीर में एंटर कर सकते हैं और आपको संक्रमित कर सकते हैं। शिलाजीत आपकी इम्युनिटी को मजबूत करने और आपको बीमार होने से बचाने में मदद कर सकता है।

5) स्किन हेल्थ


झुर्रियां, काले धब्बे, दाग-धब्बे, फुंसी आदि से बचने के लिए केमिकल प्रोडक्शन खरीदते हैं, जो आपको रातोंरात इन्हें ठीक करने का दावा करते हैं। लेकिन इन सभी चीजों का इस्तेमाल करने से आपकी स्किन खराब होने लगेगी, जिसके कारण आपको एक बार फिर प्रोडक्ट की ओर रुख करना होगा। ऐसे में शिलाजीत सभी प्रकार की स्किन के लिए एक प्राकृतिक उपचार है। यह आपको फ्लॉलेस और सॉफ्ट दिखने वाली स्किन देगा।

पुरुषों के लिए शिलाजीत के फायदे - Shilajit Ke Fayde


1. पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में सुधार


पुरुषों के लिए टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन काफी जरूरी होता है। यह हॉर्मोन पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को सुधारने और नपुंसकता जैसी समस्या को दूर करने में काफी महत्व रखता है। इसकी कमी के कारण पुरुषों को बालों का झड़ना, मसल्स कमजोर होना, बॉडी फैट बढ़ना व थकान जैसी समस्या हो सकती है। Pubmed.gov पर प्रकाशित एक क्लिनिकल स्टडी में शामिल 45 से 55 साल की उम्र के पुरुषों में शुद्ध शिलाजीत का रोजाना दो बार 250 मिलीग्राम सेवन करने पर टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन में बढ़ोतरी देखी गई। शिलाजीत का इस तरह सेवन करके मर्दों की ताकत बढ़ाई जा सकती है। हालांकि, किसी भी चीज का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर या आयुर्वेदिक एक्सपर्ट की मदद जरूर लें।(2)

2. एनीमिया की समस्या


शरीर में खून की कमी को एनीमिया की समस्या कहा जाता है। महिलाओं में आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया की समस्या ज्यादा देखी जाती है। हालांकि यह पुरुषों को भी हो सकती है। शिलाजीत का सेवन करने से शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया को मदद मिलती है और एनर्जी आती है। क्योंकि इसमें ह्यूमिक एसिड और आयरन पाया जाता है।

3. पेशाब संबंधित समस्याएं


शिलाजीत का सेवन पेशाब संबंधित समस्याओं से भी राहत प्रदान कर सकता है। यह गुर्दों व मूत्राशय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। इसके सेवन से पेशाब में जलन और पथरी जैसी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। इससे किडनी की कार्यक्षमता बढ़ती है।

4. जोड़ों के दर्द से राहत


अगर आपके जोड़ों में दर्द रहता है, तो शिलाजीत का इस्तेमाल फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाए जाते हैं। जो शरीर में टिश्यू की सूजन को कम करके जोड़ों के असहनीय दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से बढ़ती उम्र के लक्षणों व कोशिकाओं के क्षतिग्रस्त होने की प्रक्रिया को भी कम किया जा सकता है।

5. दिमाग को तेज रखता है


शिलाजीत का इस्तेमाल हमारे दिमाग के लिए भी लाभदायक होता है। यह हमारी याद्दाश्त को भी मजबूत कर सकता है। इसमें मौजूद फुलविक एसिड दिमाग में ताऊ प्रोटीन के असामान्य व  असंतुलित उत्पादन को रोक सकता है। जिससे दिमाग की अल्जाइमर जैसी समस्या से भी राहत पाई जा सकती है। हालांकि, इस पर अभी अधिक शोध की जरूरत है।

शिलाजीत का उपयोग कैसे करें - How to Use Shilajit



यह पदार्थ कैप्सूल, पाउडर और तरल दोनों रूपों में उपलब्ध होता है। इसे बताये गये निर्देशों के आधार पर ही ग्रहण करे। तरल रूप में एक मटर के दाने जितना हिस्सा तरल में घोल कर निर्देशों के अनुसार पियें। शिलाजीत पाउडर दिन में दो बार दूध के साथ पी सकते हैं।

शिलाजीत कैप्सूल सेवन करने में आसान होता है। इसके कड़वे स्वाद की वजह से इसे निगल सकते हैं। पानी या दूध के साथ इसे खा ले। आप क्रीम और टॉनिक के रूप में भी इसका उपयोग कर सकते है। त्वचा की बेहतर रंगत में यह लाभकारी होता है।  

शिलाजीत चूर्ण श्वसन तंत्र में आने वाली रुकावट को दूर करता है। इस चूर्ण में कायाकल्प और स्वास्थ्यवर्धक जैसे कई प्रकार के गुण होते हैं। शिलाजीत के चूर्ण को कच्चे, गुनगुने दूध, घी या तिल के तेल, बिना पाश्चुरीकृत शहद के साथ ले सकते है। इस तरह से इसके दुगने फायदे मिलेंगे।

वयस्क 150 मिलीग्राम शिलाजीत का सेवन दिन में एक या दो बार कर सकते है। इसका सेवन करने के पहले अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करे और उनसे सही मात्रा निर्धारित करवा कर इसे ग्रहण करे।

शिलाजीत कब लें -  When to Take Shilajit?


सुबह खाली पेट इसका सेवन करना सबसे बेहतरीन होता है। शिलाजीत की एक सही खुराक आप ले सकते है। इसमें ऊर्जा की वृद्धि करने वाले गुण होते हैं तो रात में इसका सेवन करने से बचना चाहिए। यह नींद को बिगाड़ने में सहायक होता है। रात में शिलाजीत का सेवन करने के बारे में चिकित्सक से जरूर पूछ ले।

शिलाजीत लेने से पहले कुछ बातें जो ध्यान में रखना आवश्यक है। जिसके बाद ही आपको इसकी खुराक निश्चित करना चाहिए जैसे सामान्य स्वास्थ्य, शरीर का आकार, मेटाबोलिज्म, बॉडी मास इंडेक्स, खाद्य और अन्य जीवन शैली।
 
Note: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है। जिसका हम दावा नहीं करते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

1टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. The workpieces are often more precise since multiple of} cutting passes can be programmed on the machine. This helps enhance productiveness and make components with high tolerances potential in one manufacturing run. The three axes along with their respective axis motors run at high speeds and are managed through stepper motor drives. Routing is Ceramic Teapot Sets used for the precision cutting of assorted supplies such as wooden, composites, aluminum, metal, and plastics. Once the CNC machine has been prepared with the G-code and M-code, the machining operation needs to be executed.

    जवाब देंहटाएं
एक टिप्पणी भेजें

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !